रोमांटिक कहानी लव स्टोरी|COLLEGE LOVE STORY-1

COLLEGE LOVE STORY

COLLEGE LOVE STORY IN HINDI| TRUE LOVE STORY IN HINDI

कहानियां बहुत बनती हैं, लेकिन आज मै आपको एक सच्ची कहानी सुनाना चाहता हूँ। यह एक सच्ची और रोमांटिक कहानी लव स्टोरी|COLLEGE LOVE STORY-1 है।

पार्ट 1 – दोस्ती प्यार में बदल गई

एक शहर में दो दोस्त रहते थे । उनका नाम रघुवीर और सुप्रिया था। यह दोनों बहुत अच्छे दोस्त होते है। बचपन से एक दूसरे के साथ रहते थे। रघुवीर बहुत आलसी होता है। रघुवीर कभी अपना काम टाइम पर नहीं करता, सारे काम सुप्रिया से करवाता था। सुप्रिया कर भी देती थी। रघुवीर को गाने सुनना और गेम खेलना बहुत पसंद था। और सुप्रिया पढाई में बहुत होशियार होती है।

सुप्रिया को पढ़ाई करना और रघुवीर से बातें करना पसंद था। इन दोनों के बीच कोई नहीं आता था सब रघुवीर से डरते थे । ऐसे ही समय बीतता है और दोनों बड़े हो जाते हैं।

रघुवीर के अंदर कोई सुधार न होता देख के रघुवीर के मम्मी पापा को बहुत चिंता रहती थी। डांटने पर सुप्रिया  हर बार रघुवीर को बचा लेती थी। पर यह कब तक चलता दोनों कॉलेज आ गए थे। रघुवीर एक क्लास पीछे था सुप्रिया से क्युंकि रघुवीर फ़ैल हो गया था। रघुवीर के पापा ने रघुवीर को बहुत सुनाया और रघुवीर कुछ नहीं बोलता चुप-चाप अपने रूम में चला जाता था। उतने में सुप्रिया आ जाती है। और रघुवीर के पापा सुप्रिया से कहते है बेटा अब तू ही इसे समझा।

तब सुप्रिया रघुवीर के पास जाती है और रघुवीर को पढाई करने के लिए बोलती है। सुप्रिया रघुवीर को कहती है आगे तुमने पढ़ाई नहीं की तो मैं तेरी कोई हेल्प नहीं कर सकती।

रघुवीर बहुत सीरियस हो गया था पापा ने बहुत गुस्सा किया आज रघुवीर पर। रघुवीर ने सुप्रिया से कहा यार मुझसे नहीं होती पढ़ाई, सुप्रिया कहती है मैं तेरी हेल्प करुगी हम दोनों साथ में पढ़ाई करेंगे। तो रघुवीर मान जाता है। और हर रोज दोनों पढ़ाई करते। सुप्रिया रघुवीर को पढ़ाई में पूरी मदद करती।

अब रघुवीर का मन ना होने पर भी सुप्रिया के साथ पढाई करता, क्योकि रघुवीर कभी सुप्रिया का दिल नहीं दुखाना चाहता था। सुप्रिया रघुवीर को बहुत पसंद करती है। बचपन से ही पर कभी कहती नहीं है और रघुवीर भी सुप्रिया को बहुत पसंद करता है। बचपन से दोनों एक दूसरे को पसंद करते है पर कभी एक दूसरे से नहीं कहते, दोनों डरते है कही हमारी दोस्ती खत्म ना हो जाए और एक दूसरे से दूर ना हो जाए पर रघुवीर की मम्मी कभी -कभी सुप्रिया को कहती रहती है।

COLLEGE LOVE STORY-1

बेटा तू ही रघुवीर का ख्याल रख सकती है। तू मेरे रघुवीर से शादी कर ले इस पागल को तेरे अलावा कोई नहीं समझा सकता है। रघुवीर तेरे अलावा किसी और की नहीं सुनता (रघुवीर की मम्मी सुप्रिया  को पसंद करती है)। सुप्रिया  को शर्म आ जाती है। रघुवीर की मम्मी कहती है, हर रोज रघुवीर के पापा रघुवीर पर गुस्सा करते है।

इतना सुनकर के सुप्रिया अपने घर चली जाती है क्योकि रघुवीर घर पर नहीं होता अपने पापा के साथ कही गया होता है। किसी काम से एक दिन कॉलेज की तरफ से घूमने ले जाया जा रहा था सुप्रिया  रघुवीर से कहती है हमें भी घुमने के लिए जाना हैं तो रघुवीर कहता है हां क्यों नहीं, सुप्रिया रघुवीर और सुप्रिया दोनों का नाम लिखवा देती है।

दोनों अपने घर पर कहते है जाने के लिए पर रघुवीर के पापा नहीं जाने देते रघुवीर को। उसके पापा डांटने लगते हैं कोई काम अच्छे से करता है क्या जो यह कही जाए, पढ़ाई पर ध्यान तो है नहीं। तभी सुप्रिया आ जाती है और रघुवीर के पापा से कहती है अंकल रघुवीर को मैं पढा़ती हूँ और रघुवीर पढ़ाई पर अच्छे से ध्यान देने लगा है। आप रघुवीर को मेरे साथ जाने दो अब रघुवीर कभी फेल नहीं होगा मुझे यकीन है। सुप्रिया  की बात सुनने के बाद रघुवीर के पापा राज़ी हो जाते है। सुप्रिया  रघुवीर के पास जाती है और कहती है सुबह जल्दी उठ जाना, ठीक है। फिर दोनों जाने के लिए तैयारी करने लगते है।  

ALSO READ:- Love Story in Hindi मोस्ट रोमांटिक लव स्टोरी इन हिंदी

अगले दिन सुबह सब जाने के लिए तैयार थे। पर रघुवीर को लेट करने की बीमारी होती है। तभी सुप्रिया  तैयार हो कर आ जाती है रघुवीर के घर पर रघुवीर अभी तक सो रहा होता है।

 सुप्रिया  -रघुवीर कहा है,

रघुवीर की मम्मी – रघुवीर सो रहा है

सुप्रिया – अभी तक सो रहा है।

 इतना कहे के सुप्रिया  रघुवीर के रूम में चली जाती है। और रघुवीर को उठाने लगती है। रघुवीर कहता है कुछ देर और सोने दे यार, सुप्रिया  कहती है नहीं हम दोनों लेट हो जाएगें फिर रघुवीर उठ जाता है। और जल्दी से तैयार होने लगता है। क्योकि रघुवीर सुप्रिया  का हर कहना मानता है। और जल्दी कॉलेज की और जाते है। दोनों कुछ ही टाइम बाद कॉलेज पहुँच जाते है। कुछ देर और लेट करते तो सब निकल जाते, सुप्रिया  रघुवीर को मारने लगती है क्योकि सब बस में बैठबै गए थे सिर्फ रघुवीर और सुप्रिया  का ही इंतजार कर रहे थे। दोनों भी जल्दी से बस में बैठे जाते है सब मौज मस्ती करते है और गाना गाते है ।

रघुवीर और सुप्रिया  को सब से पीछे की सीट मिलती है। लेट होने की वजह से सुप्रिया  रघुवीर पर गुस्सा करती है आज तेरी वजह से बस छूट जाती ना, तब रघुवीर कहता है यार सॉरी, सुप्रिया  मान जाती है। और बातें करने लगती है। सुप्रिया  को नींद आने लगती है। और रघुवीर अपने फ़ोन से गाने सुन रहा होता है।

COLLEGE LOVE STORY-1

सुप्रिया  खिड़की के पास ही बैठी होती है । और खिड़की पर सर रख के सो जाती है जैसे-जैसे बस हिलती है वैसे-वैसे बार बार सुप्रिया उठ जाती है। तब रघुवीर देख लेता है और अपने कंधे पर सुप्रिया  का सर रख देता है। सुप्रिया रघुवीर के कंधे पर ही सो जाती है तभी अचानक बस ब्रेक मारती है तो सुप्रिया रघुवीर को कस के पकड़ लेती है। और रघुवीर को बहुत अच्छा लगता है। रघुवीर भी अपना हाथ सुप्रिया के कमर पर रख लेता है और दोनों एक दूसरे के करीब आ जाते है। सुप्रिया  नींद में रघुवीर के गले के पास ही सुप्रिया  के लिप्स लगने लगते है तभी रघुवीर को कुछ-कुछ होने लगता है। रघुवीर सुप्रिया को कस के पकड़ लेता है सुप्रिया भी रघुवीर को पकड़ लेती है ना जाने क्या होता दोनों को।

रघुवीर भी अपने आपको संभाल नहीं सका, सुप्रिया  इतना करीब आ गयी थी। सुप्रिया और रघुवीर के लिप्स दोनों एक दूसरे के बहुत करीब आ जाते है और रघुवीर सुप्रिया  को किश करने लगता है और सुप्रिया  भी साथ देती है। दोनों एक दूसरे में खो जाते हैं। सुप्रिया को रघुवीर प्यार से अपनी और खीच लेता है और दोंनो एक दूसरे को किश करते रहते है तभी अचानक बस रुक जाती है और रघुवीर दूर हो जाता है, तभी सुप्रिया  रघुवीर को अपनी और करती है पर रघुवीर कहता नही फिर सुप्रिया  भी दूर हो जाती है।

अब दोनों एक दूसरे को देखने लगते है। रघुवीर कहता है, सॉरी वो सुप्रिया पता नहीं क्या हुआ, रघुवीर डरने लगता है ,पर सुप्रिया रघुवीर के बोलने से पहले ही रघुवीर के लिप्स पर अपनी उंगली रख देती है और कहती है जो हुआ अच्छा हुआ, मुझे अच्छा लगा। बस फिर से चलने लगती है सुप्रिया रघुवीर से कहती है मै तुमसे बहुत प्यार करती हूँ रघुवीर, काफी टाइम से रघुवीर भी सुप्रिया  को पसंद करता था रघुवीर भी कहता है मैं भी बहुत प्यार करता हूँ सुप्रिया पर हमारी दोस्ती ख़राब ना हो इस लिए कभी कहा नहीं। फिर दोनों गले लग जाते है। दोस्ती प्यार में बदल गई।

दोनों बातें करने लगते है, कब और कैसे हुआ दोनों को प्यार, यह बताने लगते है। तभी एक होटल के पास बस रुकती है। और सब अपना सामान ले कर होटल में जाते है। अपने-अपने रूम लेने के लिए सुप्रिया और रघुवीर भी होटल में जाते है। तब सुप्रिया रघुवीर से कहती है एक रूम ले लेना मुझे तुम्हारे साथ रहना है। रघुवीर कहता ठीक है रघुवीर एक ही रूम लेता है। लंबा सफर था तो रात को होटल में ही रुकते है सभी।

COLLEGE LOVE STORY-1, PART 1 END

पार्ट 2 प्यार ज़िन्दगी बन गई

2 Comments

  1. Arati

    Hello sir, apki story achai hai , kya apki yeh puri story mein apne youtube channel par as a podcast Dal sakti hu…?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *